Rose Day 2023- रोज डे के मौके पर जानें इस दिन का इतिहास

 Rose Day 2023- रोज डे के मौके पर जानें इस दिन का इतिहास

Rose Day 2023- Know the history of this day on the occasion of Rose Day

Share this post

 

Rose Day 2023- फरवरी को प्यार के महीने के नाम से भी जाना जाता है। 7 फरवरी से लेकर 14 फरवरी तक हर दिन प्यार के नाम होता है और इसी को वेलेंटाइंस डे के रूप में देशभर में मनाया जाता है। इस वेलेंटाइंस वीक की शुरुआत होती है रोज डे से। लेकिन रोज डे से ही क्यों होती है इसकी शुरुआत क्या आप जानते हैं?

रोज यानी गुलाब। ये फूलों में सबसे खास होता है और प्यार की निशानी होता है। जब भी हम किसी रिश्ते को मजबूत बनाना चाहते हैं या किसी नए रिश्ते की शुरुआत करते हैं तो हम गुलाब का फूल देना पसंद करते हैं। है न? तो आप ऐसे में मुझे बता सकते हैं क्या कि इसकी शुरुआत कब हुई थी?

Rose Day 2023

रोज डे का इतिहास:-
इसको लेकर अलग- अलग लोगों का अलग- अलग कहना है लेकिन असल मायने में इसकी शुरुआत 30 ईसा पूर्व में ही हो चुकी थी। तभी से गुलाब के फूल को प्यार की निशानी के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। उस समय एक प्रसिद्ध रानी हुई थी रानी क्लियोपेट्रा, इन्होंने भी अपने कमरे को गुलाब के फूलों से सजाया था। बस तभी से इसका महत्व और ज्यादा बढ़ गया। इसीलिए वेलेंटाइंस वीक की शुरुआत गुलाब का फूल देकर की जाती है।

गुलाब का फूल क्यों दिया जाता है:-
गुलाब का फूल आप उसको देते हैं जिसे आप अपने दिल के सबसे करीब मानते हैं। गुलाब देने से आप अपने प्यार का इज़हार करते हैं। ऐसा नहीं है कि सिर्फ लाल गुलाब ही रिश्ते की मजबूती के लिए या इज़हार के लिए दिया जाता है। गुलाब के और भी रंग होते हैं और हर रंग अलग- अलग रिश्ते को दर्शाते हैं। जैसे पीले रंग का गुलाब दोस्ती को दर्शाता है, गुलाबी रंग का गुलाब खूबसूरती को दर्शाता है, लैवेंडर रंग का गुलाब आकर्षण की भावना को दर्शाता है।

तो इस वेलेंटाइन आप भी चुनिए एक गुलाब और करिए इज़हार।

Health Benefits : तुलसी के पत्तों के साथ

Please follow and like us:
Pin Share

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email