संचालन प्रबंधन विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन

 संचालन प्रबंधन विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन
Share this post

Greater noida news : ग्रेटर नोएडा। ग्रेटर नोएडा स्थित जीएल बजाज इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट एंड रिसर्च में पीजीडीएम विभाग के छात्रों के लिए “विघटनकारी नवाचारों के युग में संचालन प्रबंधन” विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन किया गया। अग्रवाल पैकर्स एंड मूवर्स लिमिटेड के सीएमडी रमेश अग्रवाल ने संगोष्ठी के मुख्य अतिथि और भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के उप-महाप्रबंधक डॉ० मनोज उनियाल ने विशिष्ट अथिति के रूप में भाग लिया। संगोष्ठी की शुरुआत दीप प्रज्वलन और पीजीडीएम विभाग की निदेशक डॉ सपना राकेश के उद्घाटन अभिभाषण के साथ हुई। डॉ० सपना राकेश ने अथिति को पुष्प गुच्छ देकर सम्मानित किया। डॉ० सपना राकेश ने छात्रों को संबोधित करते हुए संचालन के क्षेत्र में नवाचार के महत्व पर जोर दिया और उन्होंने अग्रवाल पैकर्स एंड मूवर्स लिमिटेड में रमेश अग्रवाल की सफल यात्रा और अनुभव पर भी प्रकाश डाला। रमेश अग्रवाल ने अपने संबोधन में अग्रवाल पैकर्स एंड मूवर्स लिमिटेड की एक छोटी कंपनी से लेकर परिवहन और रसद उद्योग में क्रांति लाने तक के सफर के बारें में बताया। उन्होंने बताया की कंपनी कैसे पूरे भारत के 100 से अधिक शहरों और 182 से अधिक देशों में एक अंतरराष्ट्रीय ब्रांड के रूप में कार्य कर रही है। उन्होंने भारत में लॉजिस्टिक्स उद्योग के सामने आने वाली चुनौतियों और विकास स्थिरता को चलाने में नवाचार के महत्व के बारे में बात की और साथ ही साथ भारत में लॉजिस्टिक्स उद्योग के भविष्य के लिए अपने दृष्टिकोण को भी साझा किया जिसमें विकास की संभावना और नवाचार के अवसरों पर प्रकाश डाला गया। उन्होंने भारतीय उद्योग के लिए बेहतर भविष्य सुनिश्चित करने के लिए नई तकनीकों को अपनाने और स्थायी प्रथाओं को लागू करने के महत्व पर भी बल दिया। भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण के उप-महाप्रबंधक डॉ० मनोज उनियाल ने भारतीय विमानन उद्योग के सामने आने वाली चुनौतियों और अवसरों पर प्रकाश डाला और बताया कि कैसे भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) देश में एक विश्व स्तरीय विमानन बुनियादी ढांचा बनाने की दिशा में काम कर रहा है। उन्होंने इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए सरकार और निजी क्षेत्र के बीच सहयोगात्मक दृष्टिकोण की आवश्यकता पर जोर दिया। डॉ० उनियाल ने विमानन क्षेत्र में नवाचार और प्रौद्योगिकी के महत्व के बारे में विस्तार से चर्चा की और बताया कि कैसे एएआई हवाई अड्डे के संचालन की दक्षता और सुरक्षा में सुधार के लिए प्रौद्योगिकी की शक्ति का उपयोग कर रहा है। उन्होंने विमानन उद्योग में स्थिरता की भूमिका को समझते हुए बताया कि एएआई अपने हवाई अड्डों में पर्यावरण के अनुकूल प्रथाओं को कैसे लागू कर रहा है। संगोष्ठी के दूसरे सत्र में प्रश्नोत्तर सत्र हुआ जिसमें डॉ० उनियाल और रमेश अग्रवाल ने हवाई अड्डे की सुरक्षा, हवाई यात्रियों के अधिकार और उद्योग शुरू करने की प्रेरणा सहित कई विषयों पर छात्रों के सवालों के जवाब दिए। अंत में सभी अथितियों एवं डॉ० सपना राकेश ने प्रोजेक्ट प्रेजेंटेशन प्रतियोगिता के विजेता विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया। इस दौरान विभाग के सभी अध्यापक मौजूद रहे।

Please follow and like us:
Pin Share

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email