Noida News : बिजली की समस्याओं को लेकर हुआ जनसुनवाई कार्यक्रम का आयोजन

 Noida News : बिजली की समस्याओं को लेकर हुआ जनसुनवाई कार्यक्रम का आयोजन
Share this post

 

Noida News : नोएडा के  सेक्टर-38 ए  बिजली विभाग गेस्ट हाउस में जनसुनवाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमे  गौतमबुद्ध नगर के सांसद डॉक्टर महेश शर्मा और विद्युत विभाग के अधिकारियों के सामने बिजली विभाग से संबंधित समस्याएं रखी गईं। जनसुनवाई के दौरान उत्तर प्रदेश युवा व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष विकास जैन ने बिजली की समस्याओं को प्रमुखता से उठाया। सांसद ने इन समस्याओं के समाधान का भरोसा दिया।

Noida News :
विकास जैन ने कहा कि नोएडा अब औद्योगिक और हाईराइज़ बिल्डिंग का शहर बन गया है, परंतु सुविधाओं के अभाव में यहां बहुत ज़्यादा दिक्कतें हो रही हैं। बिजली का फ्लैकचुएशन सबसे बड़ी समस्या है। इससे महंगे उपकरण प्रतिदिन ख़राब हो रहे हैं। राजीव मोहन ने कहा कि पिछले 20 वर्षों से यहां लाइन नहीं बदली गई है। तार जर्जर अवस्था में हैं। उन्होंने कहा कि अघोषित बिजली कटौती से उद्योगों को बहुत नुक़सान हो रहा है। जेनरेटर चलाने पर भी पाबंदी है। इस वजह से उद्योगपति नोएडा से पलायन करने को मजबूर हैं। जैन ने कहा कि नोएडा में जगह जगह बिजली के पोल गिर रहे हैं, जिससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है।
जनसुनवाई के दौरान फोनरवा के अध्यक्ष योगेन्द्र शर्मा ने विभिन्न सेक्टरों की बिजली की समस्याएं रखीं। उन्होंने कहा कि इन समस्याओं का तत्काल समाधान होना चाहिए। दादरी के जनप्रतिनिधियों ने भी अपने क्षेत्र की समस्याओं से सांसद को अवगत कराया।

सांसद डॉक्टर महेश शर्मा ने कहा कि बहुत जल्द बिजली से संबंधित सभी समस्याओं का निस्तारण कराया जाएगा। भविष्य में नई लाइनें बिछाकर विद्युत आपूर्ति को बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि हमें सौर ऊर्जा पर भी ध्यान देना चाहिए और अपने घरों में सोलर पैनल लगाना चाहिए। बिजली विभाग के अधिकारियों ने कहा कि बिजली की समस्या के लिए सबसे बड़े ज़िम्मेवार ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ता हैं, क्योंकि वे लगभग 18 फीसदी ही बिजली के बिल भरते हैं। अधिकारियों ने कहा कि खंभे पुराने होने की वजह से गिर रहे हैं। इन्हें शीघ्र बदला जाएगा।

 

बिजली विभाग के अधिकारियों ने कहा कि बिजली की समस्या के लिए सबसे बड़े ज़िम्मेवार ग्रामीण क्षेत्र के उपभोक्ता हैं, क्योंकि वे लगभग 18 फीसदी ही बिजली के बिल भरते हैं। अधिकारियों ने कहा कि खंभे पुराने होने की वजह से गिर रहे हैं। इन्हें शीघ्र बदला जाएगा।

Please follow and like us:
Pin Share

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email