Noida News : मेट्रो अस्पताल के डॉक्टरों ने महिला को दी नई जिंदगी

 Noida News : मेट्रो अस्पताल के डॉक्टरों ने महिला को दी नई जिंदगी

Noida News: Doctors of Metro Hospital gave new life to the woman

Share this post

Noida News : नोएडा। एक वर्ष से पैंक्रियाज अग्नाशय ट्यूमर से पीड़ित एक महिला मरीज की सफल सर्जरी कर मेट्रो अस्पताल के चिकित्सकों ने उसे नया जीवन प्रदान किया है। महिला कई वर्षों से पेट दर्द एवं उल्टी की समस्या से परेशान थी। उसने कई बड़े शहरों में इलाज कराया, लेकिन बीमारी पकड़ में नहीं आई।

Noida News :

 

मेट्रो अस्पताल के सीनियर गैस्ट्रो सर्जन डॉक्टर कुशल ने बताया कि कई अस्पतालों में जांच के बाद महिला को बताया गया कि उनके गाल ब्लैडर में कैंसर है। महिला की जब मेट्रो हॉस्पिटल में जांच की गई तो पता चला कि गाल ब्लैडर नहीं, यह पैंक्रियाज (अग्नाशय) से बड़ा ट्यूमर था। इस गांठ का साइज 18 से 20 सेंटीमीटर था। यह दुनिया की सबसे बड़ी गांठ में से एक है।

जांच करने के बाद पता चला कि कीमोथेरेपी, रेडियोथेरैपी से इसका इलाज संभव नहीं है। इसका इलाज सिर्फ और सिर्फ सर्जरी से संभव था। इसलिए सर्जरी का प्लान बनाया था। पैंक्रियाज की सर्जरी पहले से जटिल होती है। ऐसे में इतनी बड़ी गांठ सर्जरी को और जटिल बना देता है। उन्होंने बताया कि लिवर ट्रांसप्लांट और जीआई आन्कोलॉजी की टीम ऑपरेशन में शामिल रही। ऑपरेशन करीब आठ से दस घंटे चला, जिसमें गांठ को साबूत निकाल दिया गया।

यह अपने आप में एक रेयर केस था, जिसमें पैंक्रियाज की सर्जरी में पूरे पोर्टल वेन को काटकर नया पोर्टल वेन बनाया गया। इनकी लिवर की खून ले जाने की नलकी यानी पोर्टल वेन को इलाज के दौरान बंद कर नया ग्राफ्ट डाला गया।

लिवर ट्रांसप्लांट सर्जन अंकुर ने बताया कि आठ घंटे के जटिल ऑपरेशन के बाद मरीज को एक नई जिंदगी प्राप्त हुई। एक सप्ताह बाद मरीज पूरी तरह से मरीज स्वस्थ है। ऑपरेशन करने वाली टीम में मेट्रो हॉस्पिटल के लिवर ट्रांसप्लांट विभाग के डायरेक्टर डॉ. अंकुर गर्ग, गैस्ट्रोइंटेस्टिनल आन्कोलॉजी से डॉ. कुशल बैरोलिया, डॉ. आदर्श चौहान एनेस्थीसिया विभाग के प्रमुख डॉ. सत्येंदर कुमार आदि की टीम शामिल थी।

Please follow and like us:
Pin Share

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email