New Delhi News : जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी ने प्रस्तुत किया ’आई-फेस्टिवल’ फैशन, कला और रचनात्मकता का भव्य उत्सव

 New Delhi News : जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी ने प्रस्तुत किया ’आई-फेस्टिवल’ फैशन, कला और रचनात्मकता का भव्य उत्सव
Share this post

New Delhi News : जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी ने अपने विद्यार्थियों की कलात्मक प्रतिभा दर्शाने वाले आयोजन ’आई-फेस्टिवल’ की सफल आयोजन सम्पन्न किया। यह इंस्टीट्यूट जेडी इमेज प्रोमोशंस लि. का सहायक संगठन है। और इस उत्सव का आयोजन दिल्ली के जानेमाने जवाहरलाल नेहरु इंडोर स्टेडियम में किया गया। इस आयोजन में भाग लेने वाले आगंतुक फैशन की दुनिया में डूबे रहे, उन्होंने इंडस्ट्री आइकॉन्स से डिजाइन के बारे में ज्ञान प्राप्त किया और टीएफए-द फैशन अवार्ड्स जैसे आकर्षक शो का लुत्फ उठाया। इनके साथ ही, ऐक्ज़िबिट एक्स ने अत्याधुनिक इंटीरियर प्रदर्शित किए, जबकि कैम्प 11820 में अत्याधुनिक कलात्मकता को दर्शाया गया। कला, संस्कृति और डिजाइन को समर्पित इस बहुआयामी श्रद्धांजलि ने सभी सहभागियों पर अमिट प्रभाव छोड़ा है। इस ईवेंट की टिकटों की बिक्री बहुत तेजी से हुई और यहां आने वालों से रणविजय सिंघा, प्रैट्स ऑफिशियल और बैला जैसी मशहूर हस्तियों से मुलाकात का सुनहरा मौका प्राप्त किया।

इस आयोजन में तीन आकर्षक उप-श्रेणियां थीं, प्रत्येक श्रेणी डिजाइन जगत के विभिन्न पहलुओं से जुड़ी हुई थी।

1. टीएफए-द फैशन अवॉर्ड्स: यह अवसर था उन लोगों को सम्मानित करने का जिन्होंने नई राह बनाई है, नई शैली रची है। इसके तहत चार ऐक्सक्लूसिव फैशन प्रेज़ेंटेशन हुईं जिनमें जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी के प्रतिभावान विद्यार्थियों की चमक शामिल थी। यह कार्यक्रम इस पूरे आयोजन का फोकल पॉइंट रहा, जिसमें उभरते डिजानरों की आविष्कारशीलता, सरलता और खास ऐस्थेटिक्स पर रोशनी डाली गई। आगंतुकों ने भारत के युवाओं की निर्णायक फैशन पसंद का अनुभव लिया, जिसके माध्यम से उन्होंने अपने निजी स्वभाव के संग खुद को अभिव्यक्त किया।

2. ऐक्ज़िबिट एक्सः इस प्रदर्शनी में प्रोटोटाईप, इंस्टॉलेशन और मॉडल थे जिन्हें जेडी इंस्टीट्यूट के आकांक्षी डिजाइनरों ने रचा था; यह प्रदर्शनी आगंतुकों को रचनात्मकता एवं प्रतिभा के क्षेत्र में ले गई। दो दिनों की इस प्रदर्शनी में लोगों ने विचारोत्तेजक कॉनसेप्ट्स और विचारों दुनिया में विचरण किया; जिन्हें बेहद प्रतिभाशाली विद्यार्थियों द्वारा प्रस्तुत किया गया था। यहां आगंतुकों ने प्रतिष्ठित डिजाइनरों और पूर्व विद्यार्थियों से संवाद किया, ऐसी चर्चाओं का हिस्सा बने जो डिजाइन के विषय पर थीं और जिनमें भविष्य को आकार देने के दायित्व की बात हुई।

3. कैम्प 11820: यह कलाकारों एवं पेन्टरों का परिक्षेत्र था जहां उन्होंने अपनी गैर-परम्परागत रचनाओं और विज़नरी कॉन्सेप्ट को प्रदर्शित किया, और ऑडियेंस को कल्पनाओं के नए क्षेत्रों में लेकर गए। इस रचनात्मक क्षेत्र में उद्योग जगत के विशेषज्ञों ने अपना विशिष्ट डिजाइन नैरेटिव उकेरा जिससे कल्पनाशील प्रतिभा और कलात्मक सरलता की मंत्रमुग्ध करने वाली प्रदर्शनी निर्मित हो पाई।

वैश्विक सांस्कृतिक परिधानों का शानदार फ्यूज़नः मेक्सिको, पेरु और जापान ने मंत्रमुग्ध करने वाले फैशन शो को अपने परिधानों से रोशन किया, इस शो में इन देशों के पारंपरिक परिधानों की समृद्ध संस्कृति से परिचित कराया गया। नए फैशन और परम्परा के इस फ्यूजन के जरिए विविधता, कलात्मक अभिव्यक्ति एवं महाद्वीपीय एकता का जश्न मनाया गया।

इस मौके पर प्रसिद्ध हस्तियां भी मौजूद रहीं जिन्होंने अपने असाधारण कार्य से अपनी पहचान बनाई है, विभिन्न क्षेत्रों से संबंध रखने वाले ऐसे प्रतिष्ठित व्यक्तियों का समूह इस आयोजन में शामिल रहा। ऐक्ज़िबिट एक्स का उद्घाटन जानेमाने भारतीय डिजाइनर, सीनोग्राफर और आर्ट क्यूरेटर पद्म भूषण श्री राजीव सेठी द्वारा किया गया। इस अवसर पर मौजूद गणमान्य व्यक्तियों में शामिल रहेः कोस्टारिका के राजदूत श्री क्लाउडियो ऐंसोरेना पीएचडी, सर्बिया के राजदूत श्री लाज़ार वुकादिनोविक, पेरु के राजदूत श्री जेवियर मैनुअल पॉलिनिच वेलार्दे। इनकी उपस्थिति से इस आयोजन को अंतर्राष्ट्रीय चमक मिली। मेक्सिको के दूतावास में सांस्कृतिक मामलों की प्रमुख सुश्री वेनेसा ऐस्पिनोसा की उपस्थिति से इस उत्सव में सांस्कृतिक समृद्धि का पहलू भी जुड़ा। इस आयोजन में कई जानेमाने लोगों ने मौजूदगी दर्ज की जिनमें शामिल रहेः श्रीमती दीपिका जिंदल (जिंदल ग्रुप), श्रीमती शिवशंकर (वीपी-एचसीएल टैक्), श्री नितिन बल चौहान, श्रीमती शिखा शर्मा (न्यूट्रिशनिस्ट)। यहां आए सरकारी अधिकारियों में शामिल थेः महावीर सांघवी, संयुक्त सचिव, विदेश मंत्रालय और डॉ रूपक वशिष्ठ, सीईओ, एएमएचएसएससी। इस प्रकार यहां ऐसा परिवेश बना जिसमें विभिन्न क्षेत्र की हस्तियों के कार्यों और उपलब्धियों की चमक मौजूद थी।

इस दो दिवसीय आयोजन का उद्देश्य था कि हाल ही में स्नातक हुए व अन्य भारतीय विद्यार्थियों में प्रेरणा जगाई जाए और उनकी संभावनाओं के द्वार खोले जाएं। यह आयोजन कला, संस्कृति व डिजाइन की शक्ति का परिचायक बना। ’आई-फेस्टिवल’ 2023 ने एक ऐसे मंच का काम दिया जहां कलाकारों, डिजाइनरों व आविष्कारकों की रचनात्मक एवं बौद्धिक क्षमता को प्रकाश में लाया गया तथा उनके लिए नई मंजिलों के मार्ग-प्रशस्त किए गए।

जेडी इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी की प्रबंध निदेशक श्रीमती रूपल दलाल ने कहा, ’’आई-फेस्टिवल महज़ एक ईवेंट नहीं है, यह रचनात्मक अभिव्यक्ति की शक्ति का परिचायक है। हमारा मानना है कि फैशन और कला को अलग नहीं किया जा सकता और इस फेस्टिवल का लक्ष्य है अवरोधों को तोड़ना तथा इन गतिशील क्षेत्रों के मध्य सहयोग को प्रोत्साहित करना। आई-फेस्टिवल कल्पनाओं का मैदान है, यहां सम्पर्क बनते हैं और नवोन्मेष को प्रेरणा मिलती है।’’

मुख्य अतिथि बने जानेमाने भारतीय डिजाइनर, सीनोग्राफर और आर्ट क्यूरेटर पद्म भूषण श्री राजीव सेठी ने कहा, ’’लोग देश भर से आते हैं और अपने डिजाइन दिखाते हैं और यह सिर्फ एक शब्द तक सीमित नहीं है। हमारे देश अनूठा है और जब डिजाइन की बात आती है तो मेरा मानना है भारत सर्वश्रेष्ठ है। आई-फेस्टिवल जैसे आयोजन एक मंच प्रदान करते हैं जहां फैशन और कला के बीच तालमेल का जश्न मनाया जाता है और मेरे जैसे डिजाइनरों को रचनात्मकता के नए आयामों का जायज़ा लेने का अवसर प्राप्त होता है।’’

आई-फेस्टिवल फैशन 2023 ने पारंपरिक सीमाओं से परे जा कर एक ऐसा अवसर मुहैया कराया जहां कला, फैशन व रचनात्मकता का संगम देखने को मिला। यहां लाइव परफॉरमेंस हुईं, बरीकी से डिजाइन किए हुए ज़ोन थे तथा समयातीत कलात्मक अभिव्यक्तियों को श्रद्धांजलि दी गई। इनके साथ ही विद्यार्थियों की सक्रिय सहभागिता भी रही। इन तमाम पहलुओं को समेटे हुए इस उत्सव ने फैशन को लेकर हमारे दृष्टिकोण को नया आकार दिया।

Please follow and like us:
Pin Share

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email