Greater Noida News : दो दिवसीय सायबर सुरक्षा हैकाथॉन “कवच” 2023 के सॉफ्टवेर संस्करण का भव्य शुभारम्भ किया गया

 Greater Noida News : दो दिवसीय सायबर सुरक्षा हैकाथॉन “कवच” 2023 के सॉफ्टवेर संस्करण का भव्य शुभारम्भ किया गया
Share this post

Greater Noida News : ग्रेटर नोएडा स्थित जीएल बजाज कॉलिज में शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा आयोजित दो दिवसीय सायबर सुरक्षा हैकाथॉन “कवच” 2023 के सॉफ्टवेर संस्करण का भव्य शुभारम्भ किया गया। एआईसीटीई अध्यक्ष डॉ. टीजी सीथाराम और उपाध्यक्ष अभय जेरे ने देश के पांचों नोडल सेंटर पर प्रतियोगिता को एक साथ ओपन किया। इसके बाद जीएल बजाज कॉलिज में प्रतियोगिता का भव्य शुभारम्भ किया गया। मुख्य अथिति के रूप में गौतमबुद्ध नगर की पुलिस आयुक्त लक्ष्मी सिंह उपस्थित रहीं। उन्होंने सभागार को संबोधित करते हुए सायबर क्राइम से जुड़े तथ्यों पर प्रकाश डाला और प्रतिभागी छात्रों को प्रेरित किया। हैकाथॉन के लिए शुभकामनाए देते हुए कहा कि आप सभी एक युवा सोंच है और आप देश की प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। जीएलबीआईटीएम के निदेशक डॉ० मानस कुमार मिश्रा ने सभी टीमों को प्रतियोगिता के लिए शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि हार जीत मायने नहीं रखती है आप सभी अच्छा करें और बेस्ट टीम बनकर उभरे। आपको बता दें कि गृह एवं शिक्षा मंत्रालय इस प्रतियोगिता को पूरे देश में केवल 5 शिक्षण संस्थानों में आयोजित कर रहा है जिसमें से नार्थ इंडिया में जीएल बजाज कॉलिज को एक मात्र सॉफ्टवेयर संस्करण के लिए नोडल सेंटर चुना गया है जहाँ पर देश के 7 राज्यों (महाराष्ट्र, पंजाब, उत्तर-प्रदेश, राजस्थान, तमिलनाडु, वेस्ट बंगाल, कर्नाटक) की 22 टीमों में कुल 150 छात्र भाग लेकर 21वीं सदी की सायबर सुरक्षा से जुडी चुनौतियों से निपटने के लिए (साइबर अपराधों से सुरक्षा के लिए नागरिक सुरक्षा ऐप, फंड ट्रेल विश्लेषण उपकरण, ग्राउंड कार्मिक की निगरानी के लिए उपकरण, लोरा के उपयोग का पता लगाना) जैसे 4 प्रॉब्लम स्टेटमेंट पर लगातार 36 घंटे तक कार्य करेंगे। प्रतियोगिता की विजेता चार टीमों को प्रशस्ति पत्र और एक-एक लाख रूपये पुरस्कार के रूप में दिये जाएँगे। नोडल सेंटर हेड डॉ० निखिल कांत ने बताया कि “कवच” आधुनिक सुरक्षा चुनौतियों से निपटने के लिए नवीन अवधारणाओं और प्रौद्योगिकी समाधानों की पहचान करने वाला नॉन-स्टॉप साइबर सुरक्षा से जुड़ा एक अनोखा हैकाथॉन है। इसकी कल्पना कृत्रिम बुद्धिमत्ता, गहन शिक्षण, मशीन लर्निंग, स्वचालन, डेटा और क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग करके साइबर सुरक्षा के क्षेत्र में विचारों और रूपरेखा की संकल्पना करने वाले भारत के अभिनव दिमागों को परखने के लिए की गई है। शिक्षा मंत्रालय की इनोवेशन सेल,एआईसीटीई पुलिस अनुसंधान और विकास ब्यूरो (BPR&D) (MHA) और भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र (I4C) (MHA) एक साथ मिलकर कवच-2023 में मुख्य भूमिका निभा रहे हैं। इस दौरान नोडल टेक्निकल हेड संतोष कमाने, बीपीआरएंडडी डॉ पीएस सिंह, शिक्षा मंत्रालय से मिस्टर हर्ष एंड सुजीत, दिल्ली पुलिस से राकेश देशवाल, डीन प्लानिंग डॉ शशांक अवस्थी, डीएसडब्ल्यू प्रो एम एस नरुका, कार्यक्रम समन्वयक डॉ पुणेन्दु, आईटी प्रभारी डॉ मधु गौड़, मंच प्रबंधक आरती खंडेलवाल, कार्यक्रम प्रभारी प्रो नरेश धुल आदि मौजूद रहे।

Please follow and like us:
Pin Share

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email