Ghaziabad News : योग हमारी भारतीय वैदिक परम्परा की अनूठी देन है: डा वीरपाल विघालंकार

 Ghaziabad News : योग हमारी भारतीय वैदिक परम्परा की अनूठी देन है: डा वीरपाल विघालंकार
Share this post

 

 

Ghaziabad news : गाजियाबाद।अखिल भारतीय ध्यान योग संस्थान के तत्वावधान मे छटा बाल योग एवं संस्कार शिविर ई- ब्लॉक,  जानकी वाटिका,नेहरू नगर में हर्षोल्लास से संपन्न हुआ।

मुख्य अतिथि योगाचार्या अलका बाटला का संस्थान की ओर से पीत वस्त्र एवं माला से स्वागत किया गया,उन्होंने दीप प्रज्वलित कर सत्र को प्रारंभ किया।वार्मअप करने हेतु हाथों पैरों के सूक्ष्म अभ्यास एवं योग की विभिन्न प्रसन्नता से गतिविधियां कराईं।

योगाचार्य नेतराम ने कोणासन, वज्रासन, उष्ट्रासन, शशांकासन आदि का अभ्यास कराया।

अन्तर्राष्ट्रीय वैदिक प्रवक्ता डा वीरपाल विद्यालंकार ने अपने ओजस्वी उद्बोधन में कहा बच्चों आपने अपने जीवन के जो दिन यहां लगाए हैं,आपके जीवन में बदलाव आएगा और जिन बच्चों ने जो लिखा,बनाया उनका भविष्य उज्ज्वल है।उन्होंने आगे कहा की योग हमारी भारतीय वैदिक परम्परा की अनूठी देन है। योग भारत की प्राचीन संस्कृति का अभिन्न अंग है,योग के माध्यम से हम अपना तन मन स्वस्थ्य रख सकते हैं।

स्थानीय पार्षद पति राजेन्द्र तितोरिया ने कहा कि माननीय प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के आह्वाहन पर पूरे विश्व में अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जा रहा है।आज के तेजी से बदलते हुए समय में योग केवल फिटनेस के लिये ही नहीं अपितु मन मस्तिष्क को स्वस्थ्य रखने के लिये योग को अपनी नियमित दिनचर्या में अपनाना चाहिये।

संस्था की महिला प्रकोष्ठ की अध्यक्षा प्रमिला सिंह ने भ्रामरी प्राणायाम का अभ्यास कराया वा लाभों की चर्चा की।उन्होंने कहा आधुनिक युग भागमभाग से भरा हुआ है जीवन अनेक परेशानियाँ से युक्त है समय की कमी है मानव हमेशा तनाव में रहता है तनाव और बीमारियों को दूर करने में योग महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है योग से जीवन सुलभ बनता है, उन्होंने हास्यासन भी कराया।

डा मधु पोद्दार ने कहा कि योग हमारे मन मस्तिष्क को ठीक करता है,इससे हम तनाव मुक्त रहते हैं,पाचन तंत्र स्वस्थ रहता है।अनुशासित जीवन के लिये योग की आज महत्ती आवश्यकता है।उन्होंने खान पान पर भी विस्तृत चर्चा की।

योग शिविर से सीखकर बच्चों के सुन्दर योग प्रदर्शन पर एबीसी ग्रुप में क्रमशः प्रथम पुरस्कार कु.पूर्ति गर्ग,कु.तनिष्का एवं आरव को; द्वितीय कु.प्रिया पांचा,कु.परी सिंघल एवं कु.श्रेया गुप्ता को; तृतीय कु.आशरी सिंघल,कु. दीप्ति गुप्ता एवं कु. निशिता त्यागी को दिए गए।योग के सुन्दर चार्ट बनाने पर आयांश गौतम, आन्या अग्रवाल,खुशी वडाना, अक्षण गौड़ को भी पुरुस्कृत किया गया।

इस अवसर पर सर्वश्री प्रदीप त्यागी,लक्ष्मण कुमार गुप्ता, दयानंद शर्मा,मनमोहन वोहरा, वीना वोहरा आदि ने भी सम्यक विचार रखे।

इस अवसर पर मुख्य रूप से प्रदीप त्यागी,अरविन्द चड्ढा, हरिओम सिंह,अशोक शास्त्री, अंजू अग्रवाल,लक्षण कुमार गुप्ता एवं डा प्रमोद सक्सेना आदि मौजूद रहे। सर्वश्री जुगल किशोर गोएल, अरविन्द गर्ग,सीमा अग्रवाल आदि का शिविर में सराहनीय सहयोग रहा। मंच का कुशल संचालन योगी प्रवीण आर्य ने किया।योगी राम प्रकाश गुप्ता ने धन्यवाद ज्ञापित किया।

 

Please follow and like us:
Pin Share

Related post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

RSS
Follow by Email